अलवर मॉब लिंचिंग में 7 मुस्लिम गिरफ्तार

Spread the love

राजस्थान में अलवर के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के रामबास में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है. अलवर में हुई मॉब लिंचिंग में पुलिस ने 7 मुस्लिम लोगों को गिरफ्तार किया है. अलवर के गोविंदगढ़ में चिरंजी लाल हत्याकांड में 16 अगस्त को परिजनों व स्थानीय लोगों ने दिनभर रोड जाम व बाजार बंद रख कर आक्रोश जताया. पुलिस ने इस मामले में सात लोगो को गिरफ्तार किया है. इनमें असद खां पुत्र मकबूल खां, स्याबु पुत्र असरफ खां, साहुन पुत्र जुम्मे खां, तलीम पुत्र यासीन खां, कासम पुत्र साहबदीन, पोला उर्फ ताफीक पुत्र रुजदार व विक्रम खां पुत्र जुम्मे खां को हत्या में प्रयुक्त स्कॉर्पियो गाड़ी सहित गिरफ्तार किया गया है. सभी गिरफ्तार आरोपी अलवर सदर थाना क्षेत्र के उलाहेड़ी गांव के रहने वाले हैं.

क्या है पूरा मामला?

जानकारी के मुताबिक अलवर के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के रामबास में दो दिन पूर्व सुबह शौच के लिए घर से बाहर निकले चिरंजी लाल सैनी पर अचानक कई गाड़ियों में भरकर आए करीब 15 से 20 लोगों ने हमला कर दिया, जिससे चिरंजी लाल गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे जयपुर रैफर कर दिया गया. जहां इलाज के दौरान चिरंजी लाल की मौत हो गई.

चिरंजी लाल की मौत की खबर फैलते ही क्षेत्र में तनाव बढ़ गया. आरोपियों के जाति विशेष के होने के चलते क्षेत्र में एक बार फिर हिन्दू मुस्लिम और मॉब लिंचिंग मामला होने के चलते पुलिस प्रशासन भी मुस्तैद हो गया.

शव को रख जाहिर कीं अपनी मांगें

दिनभर चले प्रदर्शन में इस मामले को मॉब लिंचिंग की धाराओं के तहत दर्ज करने की मांग करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी व परिवार को सरकारी नौकरी सहित आर्थिक मुआवजा दिए जाने की मांग करते हुए शाम तक शव का पोस्टमार्टम नहीं होने दिया गया. साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों के न पहुंचने पर भी आक्रोश जताया, भाजपा नेता सुखवंत सिंह ने यहां सरकार व स्थानीय जनप्रतिनिधियों के खिलाफ तुष्टिकरण के आरोप लगाए.

 190 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *