5G स्पेक्ट्रम की लड़ाई में कूदा अडानी ग्रुप, आमने सामने होंगे अडानी और अंबानी

Spread the love

जल्द ही आयोजित की जाने वाली 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए शुक्रवार को आवेदन 4 आवेदकों के साथ बंद कर किए गए। इसी के साथ ही शनिवार को अडानी ग्रुप ने दूरसंचार स्पेक्ट्रम हासिल करने की दौड़ में शामिल होने की पुष्टि की है।बता दे कि यह नीलामी 26 जुलाई को आयोजित की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक इससे पहले उद्योगपति मुकेश अंबानी और गौतम अडानी दोनों ही उद्योग जगत में एक दूसरे का आमना सामना करने से बचते रहते हैं लेकिन पहली बार 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के दौरान दोनों एक दूसरे के प्रतिद्वंदी  बनकर दिखाई देंगे।

बता दे कि 5G दूरसंचार सेवाओं जैसे उच्च गति वाला इंटरनेट सेवा प्रदान करेगा। दूरसंचार क्षेत्र की तीन निजी कंपनियों ने जिओ वोडाफोन और आइडिया में इसके लिए आवेदन किया है चौथा ग्रुप अडानी समूह है।

इस संबंध में अडानी ग्रुप की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि हम हवाई अड्डा बंदरगाहों और लॉजिस्टिक बिजली उत्पाद पारषेण वितरण और विभिन्न विनिर्माण कार्यों में बड़ी हुई साइबर सुरक्षा के साथ ही निजी नेटवर्क समाधान मुहैया कराने के लिए 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में भाग ले रहे हैं इसका मतलब है कि अडानी ग्रुप उपभोक्ता मोबाइल टेलीफोन क्षेत्र में प्रवेश नहीं करेगा। हालांकि दूरसंचार कंपनियों ने निजी कैपटिव नेटवर्क स्थापित करने के लिए गैर दूरसंचार संस्थानों को स्पेक्ट्रम के किसी भी प्रत्यक्ष आवंटन का विरोध किया था लेकिन सरकार ने निजी नेटवर्क के पक्ष में फैसला किया। नीलामी के दौरान कम से कम 4 पॉइंट 3 लाख करोड़ रुपए के कुल 720 97 85 मैगाहारट स्पेक्ट्रम की पेशकश की जाएगी।

 231 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *