सर्वे में खुलासा- ओमिक्रोन के बढ़ते खौफ के बीच जनता लापरवाह, जिससे बढ़ रहे कोरोना केस

Spread the love

भारत में पिछले 10 दिन में ही कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के 50 से अधिक मामले आ चुके हैं. इसके बावजूद भारत में ‘सोशल वैक्सीन’ के रूप में सामाजिक दूरी के पालन में लापरवाही देखने को मिल रही है. लोकल सर्किल्स के एक सर्वे में यह बात सामने आई है. यह सर्वे इस बात का पता लगाने के लिए किया गया था कि क्या ओमिक्रॉन वेरिएंट के बाद लोग सजग हुए हैं? इस सर्वे के नतीजे कहते हैं कि देश में टीका लगवा चुके लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और रोजाना आने वाले संक्रमण के मामले 10,000 से नीचे आ गए हैं.

बचाव का एकमात्र और पक्का उपाय मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग

इसके उलट महामारी से बचाव का एकमात्र और पक्का उपाय मास्क पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करना ही है. दुनियाभर के वैज्ञानिकों और महामारी से जुड़े विशेषज्ञों ने ओमिक्रोन को लेकर चिंता जताई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसे ‘चिंता वाला स्वरूप’ बताया है. कुछ ही सप्ताह में दुनिया के 60 से अधिक देशों में ओमिक्रोन के मामले आ चुके हैं.

सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन अब नाममात्र है- सर्वे

लोकलसर्किल्स के सर्वे में भी सामने आया कि अब कोरोना की पालन में कोताही हो रही है. देशभर के 303 जिलों के 25,000 से ज्यादा लोगों की राय ली गई. 83 फीसदी लोगों ने माना कि लोग अब सामाजिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं. केवल 11 प्रतिशत प्रतिभागियों ने कहा कि 30-60 प्रतिशत लोग अब भी इनका अनुपालन कर रहे हैं. वहीं दो प्रतिशत का कहना था कि 60-90 प्रतिशत लोग इन दिशानिर्देशों का अनुपालन कर रहे हैं. वहीं चार प्रतिशत ने इस पर कोई राय नहीं दी. देश में अब न तो लॉकडाउन है और ऊपर से ओमिक्रोन तेजी से फैलता है. ऐसे में नई लहर से बचना है तो सावधानी में ही समझदारी है.

 

 285 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *