BSP का बड़ा ऐलान, विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे मायावती और सतीश मिश्रा

Spread the love

यूपी चुनाव से ठीक एक महीने पहले बहुजन समाज पार्टी की तरफ से बड़ा ऐलान किया गया है. इस बार बसपा सुप्रीमो मायावती और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा चुनाव नहीं लड़ेंगे. सतीश चंद्र मिश्रा ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि मायावती पांच राज्यों में चुनावी अभियान की अगुवाई करेंगी. वो जमीन पर रहकर काम कर रही है. वो हर गतिविधि पर बारीकी से नजर रख रही हैं. लेकिन वो मैदान में नहीं उतरेंगी. ऐसे समय में जब बसपा का कुनबा बहुत ही छोटा हो चुका है, कुछ ही चुनकर विधायक और सांसद बचे हैं, मायावती का चुनाव से पीछे हटना बेहद ही चौंकाने वाला है.

बहुजन समाज पार्टी  के नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि बीएसपी सुप्रीमो मायावती चुनाव लड़ने नहीं बल्कि लड़वाने का काम करेंगी. मैं भी यूपी विधान सभा का चुनाव नहीं लडूंगा. मेरी पत्नी कल्पना मिश्रा और मेरा बेटा कपिल मिश्रा भी चुनाव नहीं लड़ेगा. मायावती के भतीजे आकाश आनंद भी चुनाव नहीं लड़ेंगे.

सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी की सरकार बनने जा रही है. बीजेपी और समाजवादी पार्टी दूसरे और तीसरे नंबर के लिए लड़ाई कर रहे हैं. चुनाव से पहले और ना ही बाद में किसी के साथ बीएसपी का गठबंधन होगा.

उन्होंने आगे कहा कि यूपी के ब्राह्मण हमारे साथ हैं. बीजेपी के साथ तो ब्राह्मण जा ही नहीं सकता है और समाजवादी पार्टी के साथ ब्राह्मण कभी नहीं रहा. बीजेपी सरकार में ब्राह्मण समाज के 500 से ज्यादा लोगों की हत्या हुई. 100 से ज्यादा एनकाउंटर हुए. ब्राह्मण समाज पहले देख चुका है कि बीएसपी ने कैसे उसका सम्मान बढ़ाया था? चाहे अधिकारियों की बात हो, चाहे 15 एमएलसी बनाने की बात हो, चाहे कैबिनेट मंत्री का दर्जा देकर चेयरमैन बनाने की बात हो और चाहे उत्तर प्रदेश में 4 हजार से ज्यादा सरकारी वकील बनाने की बात हो, सब जगह ब्राह्मणों को सम्मान दिया.

सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि यूपी में ब्राह्मण 12 नहीं बल्कि 16 प्रतिशत है. 1-2 फीसदी छोड़कर बाकी ब्राह्मण समाज हमारे साथ है. 1-2 फीसदी केवल पर्सनल रीजन की वजह से इधर-उधर जा सकता है.

 

 

 

 

 

 228 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *