बजट 2022: आम आदमी को नहीं मिली राहत, जानिए सस्ता और क्या हुआ मंहगा

Spread the love

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने आज देश का आम बजट पेश किया. साल 2022 के लिए पेश किए गए बजट में आम आदमी को कोई राहत मिलती हुई दिखाई नहीं दे रही है.

देश का वित्त मंत्री जब भी आम बजट पेश करता है, तो आम आदमी की निगाह सिर्फ इस बात पर टिकी होती है, उसकी जेब को राहत मिली या खर्च का बोझ बढ़ गया. बजट में टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है, जिससे मिडिल क्लास जरूर मायूस होगी. इसके अलावा क्रिप्टोकरंसी से होने वाली इनकम पर 30 फीसदी टैक्स लगा दिया गया है. सीतारमण ने कहा कि इस बजट से अगले 25 सालों की बुनियाद रखी जाएगी. इस बजट में 16 लाख नौकरियां देने का वादा किया गया है.

बजट पेश होने के बाद कुछ सामान महंगा हो जाएगा और कुछ सामान सस्ता हो जाएगा. आइए आपको बताते हैं कि इस बार के बजट में कौन-कौन से सामान की कीमतों में कटौती आ जाएगी और कौन से सामान के रेट्स में इजाफा हो जाएगा.

सस्ता होने वाला सामान

  • विदेश से आने वाली मशीनें सस्ती होंगी
  • कपड़ा और चमड़े का सामान सस्ता होगा
  • खेती के उपकरण सस्ते होंगे
  • मोबाइल- चार्जर
  • जूते -चप्पल
  • हीरे के गहने
  • पैकेजिंग के डिब्बे
  • जेम्स एंड ज्वैलरी

महंगा होने वाला सामान

  • छाता
  • कैपिटल गुड्स
  • बिना ब्लेंडिंग वाले फ्यूल
  • इमिटेशन ज्वैलरी

सस्ते होंगे फोन के चार्जर

बजट में इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने पर जोर दिया गया है. वित्त मंत्री ने मोबाइल फोन चार्जर, मोबाइल फोन कैमरा लेंस, ट्रांसफॉर्मर इत्यादि के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए इन पर ड्यूटी कंसेशन देने की घोषणा की है.

सस्ता होंगे रत्न-आभूषण

रत्न और आभूषण उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कट और पॉलिश डायमंड के साथ रत्नों पर कस्टम ड्यूटी को 5% कर दिया है. सिंपली सोन्ड डायमंड पर अब कोई कस्टम ड्यूटी नहीं लगेगी.

महंगे होंगे आर्टिफिशियल गहने

सरकार ने बजट में अंडरवैल्यू आर्टफिशियल गहनों के आयात को निरुत्साहित करने के लिए इस पर इंपोर्ट ड्यूटी अब 400 रुपये प्रति किलोग्राम कर दी है. ऐसे में आने वाले वक्त में ये गहने महंगे हो सकते हैं.

महंगी होंगी छतरियां

बारिश में भीगने से बचाने वाली छतरियां अब से महंगी हो जाएंगी. सरकार ने बजट में इन पर कर को बढ़ाकर 20% कर दिया है. साथ ही छाता बनाने में इस्तेमाल होने वाले कलपुर्जों पर मिलने वाली टैक्स छूट को खत्म कर दिया है.

स्टील स्क्रैप आयात रहेगा सस्ता

छोटे और मझोले उद्योगों को राहत देते हुए वित्त मंत्री ने बजट में स्टील स्क्रैप (कबाड़) पर मिलने वाली कस्टम ड्यूटी छूट को एक साल के लिए और बढ़ा दिया है. इससे MSME सेक्टर में कबाड़ से स्टील उत्पाद बनाने वालों को आसानी होगी.

 

 303 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *