प्यार के जाल में फसा दुकानदार को कर रही थी ब्लैकमेल, सीआईए 48 पुलिस ने दबोचा

फरीदाबाद। सैक्टर-48 सीआईए ने हनीट्रैप के मामले में एक युवति को गिरफ्तार किया है, जो एक दुकानदार से अंतरंग संबंध बना उससे तीन लाख रुपए की मांग कर रही थी। पैसे न देने की एवज में महिला उसकी इज्जत खराब करने और दुष्कर्म का केस दर्ज करवाने की धमकियां लगातार दे रही थी। महिला ने युवक से एक लाख रुपए वसूल भी लिए थे और अब 50 हजार रुपए लेते हुए रंगे हाथों पकड़ी गई है। परेशान दुकानदार ने इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने जाल बिछाकर 50 हजार रुपए दोबारा देते हुए युवती को गिरफ्तार कर लिया है। युवति का मेडिकल करा पूछताछ के लिए सैक्टर-48 सीआईए में लाया गया है, जहां से उसे अदालत में पेश किया जाएगा। तिगांव निवासी दुकानदार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह कूलर की दुकान करते हैं। उसने दुकान में दो कर्मचारियों को भी रखा है। एक दिन युवती उनकी गैर मौजूदगी में दुकान पर आई और कर्मचारियों से विजिटिंग कार्ड लेकर गई थी। कुछ दिन बाद उसने कूलर लेने के बहाने फोन किया और रेट पूछे। उसने अपना नाम सुरभि बताया। 4 मार्च को उसने मिलने की इच्छा जताते हुए सेक्टर-64 बुलाया। वहां से ओयो होटल में चलने को कहा। शिकायतकर्ता ने बताया कि युवती होटल में उन्हें ले जाकर अंतरंग संबंध बनाए। पांच मार्च की सुबह सुरभि ने फोन कर अनर्गल बातें करना शुरू कर दी। इसके बाद वह दुकान पर आ गई। उसने तीन लाख रुपये देने को कहा। ऐसा न करने पर उसके अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी दी। दुकानदार डरकर 21 मार्च को सायं 3.15 बजे एक लाख रुपये दे दिए। इसके बाद भी पीछा नहीं छोड़ा बकाया दो लाख रुपए न देने पर दुष्कर्म का आरोप लगा केस दर्ज कराने की धमकी दी। युवती 7 अप्रैल को फिर दुकान पर आई। बदनामी के डर से 50 हजार रुपये और देने की हामी भर दी। दुकानदार ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने जाल बिछाकर 50 हजार रुपए में से कुछ के नंबर नोटकर दुकानदार को युवती के पास भेजा। दुकानदार ने युवती को दुकान के पास बुलाकर पैसे दे दिया। ईशारा मिलते ही पुलिस की टीम ने घेराबंदी कर युवती को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से 50 हजार रुपए भी बरामद कर लिए। पकड़ी युवती बल्लभगढ़ क्षेत्र की बताई जा रही है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

 2,134 total views,  6 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *