snowfall देखना है तो मनाली जाएँ

पहाड़ी इलाकों में लगातार हो रही बर्फबारी और पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर भारत में आने वाले दिनों में पारा गिरने के आसार हैं। पिछले दिनों तापमान में थोड़ी राहत के बाद अब दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तरी राज्यों में लोगों को और ज्यादा ठंड का सामना करना पड़ सकता है। वहीं, चक्रवात निवार अब थम चुका है लेकिन इसके असर के कारण कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु में एक बार फिर से भारी बारिश की संभावना है। बंगाल की खाड़ी में फिर से निम्न दबाव बनने की आशंका बन रही है। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का सिलसिला जारी है।

दिल्ली-एनसीआर में ठंड बढ़ने के आसार

शुक्रवार को फिर से तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। यहां धुंध के साथ सुबह की शुरूआत हुई। मौसम विभाग के अनुसार आज न्यूनतम तापमान 8 और अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की आशंका है। इसके अलावा आने वाले दिनों में दिल्लीवासियों को अधिक ठंड एहसास हो सकता है। इसके अलावा 29 नवंबर को न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस तक जाने की उम्मीद है और दो दिनों में शीत लहर भी चल सकती है।

उत्तर प्रदेश में शनिवार से बढ़ेगी ठंडक

वाराणसी में सुबह से ही बादल छाने के कारण ठंड में बढ़ोतरी की आशंका है। इससे पहले गुरुवार को धूप निकलने के कारण लोगों को राहत मिली थी। हालांकि आज के लिए आसार हैं कि धूप निकलने के बावजूद लोगों को ठंड से राहत नहीं मिल पाएगी। वहीं, चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन सुनील पांडेय ने शनिवार से ठंड बढ़ने की उम्मीद जताई है। इस बार ला नीना भी सक्रिय होने के कारण कैस्पियन और भूमध्य सागर का पानी ठंडा हो रहा है। आसमान में बादल छाए रहेंगे लेकिन बारिश के आसार काफी कम हैं। उधर पश्चिमी जिलों में शुक्रवार को भी दिन की शुरूआत कोहरे के साथ हुई जिसके कारण काफी ठंड है। आने वाले दिनों में भी माहौल ऐसा ही रहने की संभावना है।

उत्तराखंड़ में बर्फबारी और बारिश का दौर जारी

उत्तराखंड़ में लगातार बारिश और बर्फबारी का दौर जारी है। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में हिमपात हो रहा है तो वहीं मसूरी और सुरकंडा और नागटिब्बा की पहाड़ियों पर भी बर्फ है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक, आने वाले दिनों में राज्य में मौसम साफ रहने की आशंका है। हालांकि सर्द हवाएं चलने के कारण ठिठुरन बढ़ सकती है।

तमिलनाडु में बन रहा निम्न दबाव का क्षेत्र

चक्रवात निवार के असर के चलते देश के कई शहरों में भीषण बारिश की आशंका जताई गई है। मौसम विभाग ने तमिलनाडु में 29 नवंबर के बाद एक बार फिर से भारी बारिश की चेतावनी दी है। विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में एक नया निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की आशंका है। निम्न दबाव का क्षेत्र चक्रवात बनने का पहला चरण होता है ऐसे में विभाग इस पर लगातार नजर बनाए हुए है।

One thought on “snowfall देखना है तो मनाली जाएँ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *