26 जनवरी की परेड में परिचय पत्र अनिवार्य

इस बार 26 जनवरी की होने वाली परेड के सिर्फ चार हजार पास (टिकट) आम जनता को बेचे जाएंगे। कोरोना व किसान आंदोलन के चलते ये फैसला लिया गया है। साथ ही इस बार नई दिल्ली की सीमाओं पर ही पास व परिचय पत्र दिखाना होगा। परिचय पत्र वही होना चाहिए जो पास खरीदते समय दिखाया गया था। किसान आंदोलन के चलते इस बार परिचय पत्र को अनिवार्य किया गया है। परिचय पत्र दिखाने के लिए बाद ही लोग टिकट खरीद सकते हैं। दूसरी तरफ दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने कहा है कि दिल्ली पुलिसकर्मी अपना हौंसला बनाए रखें।

नई दिल्ली जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 26 जनवरी की तैयारियों को लेकर सुरक्षा एजेंसियों समेत सभी एजेंसियों की बैठकें शुरू हो गई हैं। हर रोज बैठकें हो रही हैं। रक्षा मंत्रालय ने दिल्ली पुलिस को जानकारी दी है कि इस बार सिर्फ 25 हजार लोगों को परेड में शामिल होने की अनुमति होगी। इनमें से चार हजार पास आम लोगों को बेचे जाएंगे। तीन हजार पास गृह मंत्रालय को दिए जाएंगे। बाकी पास रक्षा मंत्रालय नेता व वीआईपी लोगों को देगा।

इस बार किसान आंदोलन को देखते हुए तय किया गया है कि जो आम आदमी परेड का पास खरीदेगा उसे परिचय पत्र दिखाना अनिवार्य होगा। साथ ही जब वह 26 जनवरी के कार्यक्रम को देखने आएगा तो उस समय वहीं परिचय पत्र होना चाहिए जो पास को खरीदते समय दिखाया गया था। दिल्ली पुलिस के इस वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि किसान आंदोलन को देखते हुए इस बार नई दिल्ली की सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया जाएगा। यहां पर परेड में जाने वाले लोगों के पास चेक किए जाएंगे।

इससे पहले परेड स्थल के पास ही पास चेक किए जाते थे। जिनके पास पास नहीं होगा उन्हें नई दिल्ली इलाके में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। 26 जनवरी का कार्यक्रम खत्म होने के बाद ही नई दिल्ली में प्रवेश करने दिया जाएगा। किसान आंदोलन को देखते नई दिल्ली की सीमाओं को पूरी सील कर दिया जाएगा। नई दिल्ली की सीमाओं पर नजर रखने के लिए दिल्ली पुलिस आसपास की बड़ी इमारतों को अपने कब्जे में ले लेगी।

दिल्ली पुलिस बॉर्डरों पर हर रोज कर रही है मॉक ड्रिल
दिल्ली पुलिस को आशंका है कि किसान कभी भी दिल्ली में प्रवेश या कोई हंगामा कर सकते हैं। ऐसे में दिल्ली पुलिस आए दिन मॉक ड्रिल कर रही है। रविवार को बदरपुर, कालिंदी कुंज, डीएनडी, एनएच-9 और आया नगर बॉर्डर पर मॉक ड्रिल की गई। पुलिस मॉक ड्रिल कर ये देख रही है कि अगर किसान दिल्ली में घुसने लगे तो दिल्ली पुलिस के जवान कितने समय में व कितनी जल्दी बॉर्डरों पर पहुंच सकते हैं।

पुलिसकर्मी तैयार रहें-दिल्ली पुलिस आयुक्त
दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने शनिवार को हुई लॉ एण्ड ऑर्डर की मीटिंग में अपने अधिनस्थ अधिकारियों को कहा कि किसान आंदोलन लंबा चल सकता है। जब तक किसान आंदोलन खत्म नहीं होता तब तक पुलिसकर्मियों को तैयार रहना होगा। उन्होंने अधिनस्थ पुलिस अधिकारियों से कहा कि पुलिसकर्मी भी बॉर्डरों पर लंबे समय से ड्यूटी कर रहे हैं ऐसे में उनका हौंसला न गिर पाए। पुलिसकर्मियों का हौंसला बनाए रखना है। उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन के साथ-साथ 26 जनवरी की तैयारियों को भी देखना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *