वॉट्सऐप को छोड़ चुनने लगे हैं दूसरे ऐप्स

वॉट्सऐप यूजर्स के लिए नया साल नई शर्तों के साथ शुरू हुआ है। शर्तें भी ऐसी जिन्हें नहीं माना तो अकाउंट बंद करना होगा और शर्तें मानते हैं तो आपकी प्राइवेसी को खतरा हो सकता है। इन शर्तों को आप मानते हैं नहीं इसके पर सोचने के लिए आपको 8 फरवरी तक का समय दिया गया है। ऐसे में कई उपभोक्ताओं ने अभी से ही खुद को दूसरे ऐप पर स्विच करना शुरू कर दिया है। जानकारों की मानें तो नई पॉलिसी से प्राइवेसी को खबरा बढ़ेगा क्योंकि वॉट्सऐप पर आपके सारे कंटेंट की निगरानी की जा रही होगी।

वॉट्सऐप की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पॉलिसी से कंपनी को पता होगा कि कौन सा कंटेंट ज्यादा फॉरवर्ड किया जा रहा है। फेक न्यूज को ट्रैक करने में आसानी होगी। इसके साथ ही यह कॉमर्स साइट के प्रॉडक्ट को स्टेटस पर शेयर करेंगे, जिससे फेसबुक इंस्टाग्राम भी उससे जुड़े ऐड दिखाएगा। किसी की निजी चैट प्रभावित नहीं होगी।

नई पॉलिसी पर एक और बवाल भी मचा हुआ है, क्यूंकि वॉट्सऐप लोगों के बीच काफी पॉपुलर है। स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने वाले प्रत्येक व्यक्ति के पास यह कॉमन ऐप की तरह है। अब इसके माध्यम से अलग-अलग तरह के डेटा पर नजर रहेगी। इनमें एडवरटाइजिंग डेटा, पर्चेज हिस्ट्री, कोर्स लोकेशन, फोन नंबर, ईमेल एड्रेस, कॉन्टैक्ट्स, प्रॉडक्ट इंटरैक्शन, क्रैश डेटा, गैलरी, परफॉर्मेंस डेटा जैसी जानकारियों शामिल रहेगी।

जिला शिक्षा अधिकारी इंदू बोकन ने बताया कि कोविड के दौर में सरकारी स्कूलों की ऑनलाइन शिक्षा पूरी तरह से वॉट्सऐप पर ही निर्भर रही, लेकिन जिस तरह से नई पॉलिसी आई है, जल्द ही इस पर उच्चस्तर पर कोई फैसला लिया जा सकता है। वहीं, बात करें कॉन्फिडेंशल पेपर या मैटर इस पर शेयर नहीं किया जाता है।

एमएनसी में काम करने वाले अमित सेठी ने बताया, ‘यह प्राइवेसी का सवाल है। वॉट्सऐप पर ऑफिस वर्क से संबंधित कई चीजें शेयर होती हैं, लेकिन इस पॉलिसी के आने से उस का खतरा बना रहेगा। केवल पर्सनल लेवल पर ही नहीं कंपनी को भी अपनी प्राइवेसी को लेकर अब चिंता होने लगी है। अब वॉट्सऐप को हटाकर कंपनी के कई लोगों ने दूसरा ऐप चुन लिया है।’

वहीं, फाइनैंस के फील्ड में काम करने वाले अतुल मोहन ने बताया, ‘इस पॉलिसी से फाइनेंशली डिस्कशन पर काफी असर पड़ेगा। जोकि प्रफेशनल तौर पर बिल्कुल सही नहीं है। इसलिए मैंने वॉट्सऐप की जगह सिग्नल ऐप की ओर मूव कर लिया है। फोन में कई सीक्रेट डेटा रहता है, जिसके लीक होने का डर बना रहेगा ऐसे में मैंने इसे बंद कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *