फ्लाइट से लंदन पहुंची फरीदाबाद की रॉकी 

फरीदाबाद। वायुयान से लगभग 5 हजार किमी की यात्रा करने के बाद फरीदाबाद की स्ट्रीट डॉग रॉकी अपने गंतव्य स्थान लंदन पहुंच गई है। नए श्वान पालकों के साथ रॉकी वीडियो में मस्ती करते हुए दिख रही है। रॉकी अपनी नई मालकिन के साथ बेहद प्रसन्न मुद्रा में है। इस मादा श्वान को लंदन बुलाने वाली इस डॉग लवर का नाम लाला है। लाला नाम की इस महिला ने हार्ट फाउंडेशन के माध्यम से उसे गोद लिया है। अब रॉकी शेष जीवन लाला के साथ गुजारेगी।  लाला ने रॉकी के साथ कुछ फोटोज भारत में भेजे हैं, जिनमें रॉकी लाला के साथ क्रीडा करती दिखाई पड़ रही है।

अलग-अलग चित्रों में रॉकी दो नए कॉलर के साथ बेहद खुश नजर आ रही है।

ज्ञातव्य है कि डॉग रॉकी पिछले वर्ष दिनांक 18 अक्तुबर, 2019 बल्लबगढ़ रेलवे स्टेशन पर ट्रेन की चपेट में आ गई थी। रेलवे पुलिस में तैनात सिपाही चंद्रपाल ने डॉग की जान बचाई थी।

डाक्यूमेंट्री डीसीपी मुख्यालय डॉ. अंशु सिंगला और डॉक्टर अमित जैन ने जनवरी 2020 में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रिलीज किया था। डॉ. अंशु सिंगला ने बताया कि लंदन की एक संस्था वाइल्ड एट हार्ट फाउंडेशन ने डॉग राँकी के उपर बनाई गई डॉक्यूमेंट्री से प्रभावित होकर लंदन के एक दंपति ने उसे अडॉप्ट कर लिया। इसलिए फरीदाबाद से डॉगी रॉकी लंदन के लिए रवाना किया गया। ये पहला मौका था किजब फरीदाबाद के स्ट्रीट डॉग ने विदेश के लिए उड़ान भरी।

पूर्व पुलिस उपायुक्त मुख्यालय डॉ. अंशु सिंगला ने अपने निवास स्थान पर स्ट्रीट डॉग रॉकी को विदाई पार्टी दी। डॉ. अंशु  सिंगला आईपीएस ने डॉग रॉकी की जान बचाने वाले सिपाही चंद्रपाल को फूलों का गुलदस्ता और सराहनीय कार्य के लिए प्रशंसा पत्र भेंट कर सम्मनित किया था। इस विदाई पार्टी में डॉ. अंशु सिंगला, डीसीपी डॉ0 अर्पित जैन के पिता डॉ. जीके जैन, पशु चिकित्सक डॉ. महेश वर्मा, नवीन चौहान, के रितू कपूर और सिपाही चंद्रपाल तंवर मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *