भ्रष्ट नेताओं को क्लीनचिट देना ही है मोदी सरकार का स्वच्छ भारत आभियान: शिवसेना

Spread the love

शिवसेना ने हर घर तिरंगा अभियान से लेकर मंत्रियों को मिल रही क्लीन चिट जैसे मुद्दों पर बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। जब से महाराष्ट्र में नई सरकार आई है, भाजपा के घोटालेबाजों को या तो ‘क्लीन चिट’ मिल रही है या फिर उन्हें हाईकोर्ट से ‘राहत’ मिल रही है।

उनके द्वारा झूठे सबूत पैदा किए जाते हैं, राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ झूठे अपराध मढ़ दिए जाते हैं और उनकी आवाज को दबाने के लिए जांच एजेंसियों का सहारा लिया जाता है। लेकिन अपने सभी अपराधों और घोटालों को ‘दिलासा’ की टोपी के नीचे कवर करते हैं।

इतना ही नहीं शिवसेना की ओर से  ये भी कहा गया कि मोदी का ‘स्वच्छ भारत अभियान’ यही है तो आजादी के अमृत महोत्सव में लहराता तिरंगा शर्म से झुक जाएगा और बर्बाद हो गया युद्धपोत विक्रांत, सैकड़ों शहीदों का रोना रोता रहेगा।

शिवसेना ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो लोग हत्या, बलात्कार, आत्महत्या के लिए उकसाने, रंगदारी, आर्थिक घोटाले और ईडी की जांच के दायरे में थे, वे भाजपा की ‘वाशिंग मशीन’ में घुसकर साफ हो गए हैं, लेकिन इस वजह से आजादी का अमृत महोत्सव कलंकित और मैला हो गया है।

शिवसेना ने कहा कि रश्मि शुक्ला के खिलाफ फोन टैपिंग का भी मामला दर्ज किया गया है। शिंदे-फडणवीस सरकार ने केंद्रीय जांच एजेंसियों की जबरन वसूली की जांच करने वाली ‘एसआईटी’ को भंग कर दिया। लकड़ावालों के साथ नवनीत राणा का गैर-दस्तावेज वित्तीय लेनदेन ‘मनी लॉन्ड्रिंग’ मामले के अंतर्गत आता है, लेकिन केंद्रीय जांच एजेंसी इन ‘लॉन्ड्री’ लोगों को एक साधारण पूछताछ के लिए भी बुलाने को तैयार नहीं है।

 180 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *