इस महीने पीक पर होगा कोरोना, देश में हर रोज आएंगे 10 लाख केस

Spread the love

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रोन का खतरा पूरी दुनिया पर मंडरा रहा है. ओमिक्रॉन के चलते भारत में कोरोना की तीसरी लहर आ गई है. एक्सपर्ट के मुताबिक जनवरी में तीसरी लहर का पीक दिख सकता है. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस और (IISc) और इंडियन स्टैटिसटिकल इंस्टीट्यूट (ISI ) बेंगलुरु के मुताबिक जनवरी के आखिरी हफ्ते में हर रोज़ 10 लाख केस आएंगे. शुक्रवार को कोरोना के एक दिन में 1 लाख से ज्यादा केस आए हैं.

स्टडी में कहा गया है कि जनवरी के आखिरी हफ्ते में कोरोना के सबसे ज्यादा केस आएंगे और इसका असर फरवरी में दिखेगा. हालांकि इसमें ये भी कहा गया है कि अलग-अलग राज्यों की अलग-पीक होगी. कोरोना के सबसे ज्यादा केस जनवरी मध्य से लेकर फरवरी के दूसरे हफ्ते तक दिखेगी. साथ ही मार्च से कोरोना के केस कम होने शुरू होंगे.

क्या कहा है IIT कानपुर ने?

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT), कानपुर के शोधकर्ताओं के इसी तरह के एक अध्ययन ने अनुमान लगाया है कि भारत में कोविड -19 महामारी की तीसरी लहर 3 फरवरी तक पीक पर हो सकती है.

नेशनल कोविड -19 सुपरमॉडल कमेटी ने भी पिछले महीने भविष्यवाणी की थी कि फरवरी में भारत में कोरोनावायरस की तीसरी लहर आने की उम्मीद है. नेशनल कोविड-19 सुपरमॉडल पैनल ने अनुमान जताया था कि इस साल फरवरी महीने में कोरोना पीक पर होगा. ओमीक्रोन की वजह से भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आएगी. नेशनल कोविड-19 सुपरमॉडल कमेटी के हेड विद्यासागर ने कहा था कि भारत में ओमीक्रोन की वजह से कोरोना की तीसरी लहर आएगी लेकिन ये दूसरी लहर से कमजोर होगी. ऐसा इसलिए होगा क्योंकि भारत के अधिकतर लोगों में कोरोना की दूसरी लहर में इम्युनिटी विकसित हो चुकी है. हालांकि ये तय है कि कोरोना की तीसरी लहर आएगी.

 

 316 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *