अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के नज़दीक पहुंचा ASANI, दिन में काला हुआ आसमान, तेज हवाएं और बारिश जारी

Spread the love

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में चक्रवात ‘आसनी’ के द्वीपसमूह में पहुंचने की संभावना बढ़ गयी है लिहाजा प्रशासन ने निचले इलाकों से निवासियों को निकालने की योजना बनाई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, बांग्लादेश और म्यांमार पर चक्रवात आसनी का प्रभाव अधिक महसूस किया जाएगा। जबकि भारतीय मुख्य भूमि पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ने की संभावना है।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा की भविष्यवाणी की गई है और निकोबार द्वीप समूह में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा की संभावना है। तटीय इलाकों में बारिश जारी भी हो गयी हैं। सभी मछुआरों को अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी में न जाने की सलाह दी गई है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने चक्रवात आसनी के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा, तूफान निम्न दबाव का क्षेत्र दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी और उससे सटे अंडमान सागर के ऊपर एक दबाव क्षेत्र में केंद्रित है। इसके अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के साथ-साथ लगभग उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है, अगले 24 घंटों के दौरान एक गहरे दबाव में और बाद के 12 घंटों के दौरान एक चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। इसके प्रभाव में,अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में अगले 2 दिनों तक अत्यधिक भारी बारिश, तेज हवाएं चलने की संभावना है। इस बीच, इन इलाकों में रहने वाले लोगों को निकाल लिया गया है और मछुआरों को बाहर न निकलने की सलाह दी गई है।

नवीनतम आईएमडी बुलेटिन के अनुसार, वर्तमान में, मौसम प्रणाली को कम दबाव वाले क्षेत्र के रूप में देखा जाता है, जो सोमवार तक एक चक्रवाती तूफान में विकसित होने की संभावना है, जिसकी हवा 90 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह प्रशासन ने चक्रवात आसनी के मद्देनजर हेल्पलाइन नंबर 03192-245555/232714 और टोल-फ्री नंबर – 1-800-345-2714 जारी किया।

 237 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *