भड़काऊ भाषण देने पर अकबरुद्दीन ओवैसी और बांदी संजय पर केस दर्ज

ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कारपोरेशन (जीएचएमसी) के चुनाव प्रचार के दौरान भड़काऊ भाषण देने के मामले में हैदराबाद के एसआर नगर पुलिस स्टेशन में एआईएमआईएम नेता अकबरुद्दीन ओवैसी और तेलंगाना बीजेपी के अध्यक्ष बांदी संजय के खिलाफ केस दर्ज किए गए है। एसआर नगर के पुलिस निरीक्षक के. सईदुलु ने कहा कि दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 505 के तहत मामला दर्ज किए गए हैं।

दरअसल, एआईएमआईएम नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ने बुधवार को यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि क्या हुसैन सागर झील के तट पर बनीं पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और तेदेपा के संस्थापक एनटी रामाराव की ‘समाधियां’ हटाई जाएंगी। उन्होंने जलाशय के करीब रह रहे गरीब लोगों को हटाने के अभियान पर सवाल उठाते हुए यह बात कही थी। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के चुनाव के लिए प्रचार के तहत एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए उन्होने ये कहा था।

भाजपा ने अकबरुद्दीन ओवैसी की टिप्पणी को अनुचित बताया और उनसे माफी मांगने के लिए कहा। अकबरुद्दीन ने पूछा कि क्या तालाब के पास एक गरीब आदमी के घर को ध्वस्त करने के लिए आने वाले नगर निगम अधिकारियों को दिवंगत नेताओं की समाधियों के साथ ऐसा करने का साहस होगा? उन्होंने दावा किया कि हुसैन सागर झील का किनारा 4,700 एकड़ में फैला था, जब इसे हुसैन शाह वली ने बनवाया था, लेकिन अब यह 700 एकड़ में भी नहीं रह गया है।

अकबरुद्दीन ने कहा, 4,000 एकड़ जमीन कहां गई? नेकलेस रोड बनाया गया है, दुकानें बनाई गई हैं, नरसिम्हा राव, एन टी रामाराव (एनटीआर) की समाधियां हैं, लुम्बिनी पार्क है। वहीं अकबरुद्दीन का नाम लिए बिना प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और सांसद बी संजय कुमार ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पूछा कि क्या उनमें नरसिम्हा राव और एनटीआर की समाधियों को ध्वस्त करने की हिम्मत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *