बिहार में पहली बार बीजेपी से बना स्पीकर

बिहार में स्पीकर पद के लिए चुनाव के बीच आज भारी हंगामा देखने को मिला और आखिरकार  विजय कुमार सिन्हा के नाम पर मुहर लग गई। एनडीए उम्मीदवार विजय कुमार सिन्हा विधानसभ  के अध्यक्ष चुन लिए गए हैं। ऐसा पहली बार है जब बिहार में भारतीय जनता पार्टी से कोई स्पीकर बना है। बिहार विधानसभा के अध्यक्ष पर निर्विचित होने वाले विजय सिन्हा पहले भाजपा विधायक हैं। इससे पहले कभी भी बिहार में भारतीय जनता पार्टी का स्पीकर नहीं बना था। विजय कुमार सिन्हा ने राजद के विधायक अवध बिहारी सिंह को पटखनी देकर यह खिताब अपने नाम किया है।

विजय सिन्हा ऐसे आए राजनीति में
5 जून 1967 को जन्मे विजय कुमार सिन्हा के पिता स्व. शारदा रमण सिंह पटना के बाढ़ स्थित बेढ़ना के हाई स्कूल के प्रभारी प्रधानाध्यापक थे। उनकी मां का नाम स्व. सुरमा देवी है। पैत्रिक निवास मोकामा के बादपुर में रहा है। सुशीला सिन्हा से इनकी शादी वर्ष 1986 में हुई थी।

बिहार विधानसभा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा चौथी बार लखीसराय से जीत कर विधानसभा पहुंचे हैं। मार्च 2005 में वे पहली बार विधायक निर्वाचित हुए लेकिन अक्टूबर 2005 के चुनाव में 80 मतों से हार गए। साल 2010 में फिर जीत हासिल हुई। 2015 के बाद 2020 में भी वे लखीसराय से चुनाव जीते। साल 2017 में 29 जुलाई को एनडीए सरकार में श्रम संसाधन विभाग का मंत्री बनाया गया। बतौर मंत्री बेगूसराय के प्रभारी मंत्री रहे।

विजय कुमार सिन्हा वर्ष 1980 में बाढ़ नगर में भाजपा से जुड़े और 1992 में पटना महानगर भाजपा के अधीन लोकनायक मंडल के अध्यक्ष बने। वर्ष 2002 में भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश सचिव, 2004 में प्रदेश कार्यसमिति सदस्य तो साल 2013 व 2015 में प्रदेश भाजपा प्रवक्ता सहित कई अहम सांगठनिक पदों पर रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *