छह माह बाद तीन घंटे का सत्र बुलाकर भाजपा-जजपा सरकार ने की लोकतंत्र की हत्या

by-calling-3-hour-session-after-six-months-BJP-JJP-govt-killed-democracy

एनआइटी.86 से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा का कहना है कि हरियाणा विधानसभा का छह माह बाद बुलाए गए सत्र को महज तीन घंटे में खत्म करके भाजपा.जजपा ने लोकतंत्र की हत्या की है। शर्मा के अनुसार सरकार ने बिना चर्चा के 12 अहम विधेयक पारित करवाकर लोकतांत्रिक प्रणाली को खत्म करने का काम किया है। नीरज शर्मा ने हरियाणा नगरीय क्षेत्र विकास तथा विनियमन संशोधन विधेयक 2020 में धारा 3ए में सरकार ने 1975 से संशोधन किया है। इससे बड़े पूंजीपतियों को फायदा मिलेगा।

सदन में नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने इसका विरोध किया और यह भी बताया कि विधानसभा की कार्य संचालन समिति ;बीएसीद्ध में सिर्फ दो अहम बिलों के मंजूरी की बात हुई थी। बावजूद इसके सरकार ने 12 बिल पास कराए। नीरज शर्मा इस विधेयक को पुनर्विचार के लिए सरकार को वापस भेजने के लिए राज्यपाल को पत्र लिखा है। राज्यपाल से मांग की है कि यह जनविरोधी विधेयक उन्हें मंजूर नहीं करना चाहिए।

विधायक ने कहा कि सरकार को फरीदाबाद नगर निगम में फैले भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने चाहिए। उन्होंने फरीदाबाद हार्डवेयर चौक पर हुए जमीन घोटाले की जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि नगर निगम में फैले भ्रष्टाचार  के खिलाफ सरकार कार्रवाई भी नहीं करती अगर सदन बुलाने की संवैधानिक बाध्यता नहीं होती। नीरज ने फरीदाबाद नगर निगम के जेई हेमंत त्यागी को लापरवाही के 9 माह बाद बर्खास्त किया। विधायक ने मांग की कि तीन घंटे के अलोकतांत्रिक विधानसभा सत्र में पारित कराए गए सभी बिलों को राज्यपाल पुनर्विचार के लिए वापस भेजे। उन्होंने मांग की कि फरीदाबाद में क्यूआरजी हॉस्पीटल की जमीन के बारे में भी उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। यह भी बताना चाहिए कि इस संस्थागत प्लाट पर पांच सितारा हॉस्पीटल कैसे बन गया।

5 thoughts on “छह माह बाद तीन घंटे का सत्र बुलाकर भाजपा-जजपा सरकार ने की लोकतंत्र की हत्या”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *