अब आगरा की ‘रोटी वाली अम्मा’ का वीडियो वायरल, बोलीं- बिक्री नहीं हो रही, प्रशासन दुकान हटवा देता है

आज भले ही दिल्ली में ‘बाबा का ढाबा’काफी मशहूर है लेकिन कुछ दिनों पहले तक उन्हें कोई नहीं जानता था. बाबा अपना बनाया हुआ पूरा खाना तक नहीं बेच पाते थे क्योंकि लोग नहीं आते थे. हालांकि अब बाबा की किस्मत बदल चुकी है. लेकिन हमारे देश में ‘बाबा का ढाबा’ जैसी कहानी इकलौती नहीं है. हर जगह इस तरह के लोग मौजूद हैं जो अपनी रोज की जिंदगी का गुजरा करने के लिए मेहनत तो कर रहे हैं लेकिन उन्हें उसका फल नहीं मिल रहा है.

ऐसी ही एक कहानी है आगरा में सड़क किनारे लोगों को रोटी खिलाकर अपना गुजारा करने वाली ‘रोटी वाली अम्मा’ की. ये अम्मा इन दिनों परेशान हैं. अम्मा अपना पेट भरने के लिए दूसरों का पेट भर कर गुजारा करती हैं. लेकिन कोरोना के चलते लगे लॉकडाउन और फिर उसके बाद लोगों के सजह होने के चलते पिछले 7 महीने से ग्राहक न आने से उनका कामकाज चौपट हो गया है

रोटी वाली अम्मा का नाम भगवान देवी है और उनके पति का निधन हो चुका है. सबसे दुख की बात ये है कि उनके दोनों बेटे अम्मा को अपने साथ नहीं रखते हैं. हाल ही में अब आगरी की ‘रोटी वाली अम्मा’ का वीडियो भी वायरल हो चुका है. लेकिन इससे ज्यादा कोई असर नहीं पड़ा. अम्मा लोगो को 20 रुपये में एक दाल, सब्जी, चावल और रोटी खिलाती है. अम्मा पिछले करीब 14-15 साल से रोटी खिला रही हैं. पहले उनके पास रोटी खाने के लिए मजदूर और रिक्‍शे वाले आते थे. लेकिन अब नहीं आते हैं. महामारी के कारण ग्राहकों की संख्‍या बहुत कम हो गई है.

इससे भी बड़ा दुख ये है कि प्रशासन आए दिन अम्मा को वहां से हटा देता है. ऐसे में उनके पास कोई स्थाई दुकान भी नहीं है. अम्मा का कहना है कि कोई उनका साथ नहीं दे रहा है. वे कहती हैं कि ऐसे में वे कहां जाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *