ओमिक्रोन के चलते भारत में इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर 31 जनवरी 2022 तक रोक

Spread the love

दुनिया भर में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रोन का खतरा बढ़ता जा रहा है. कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रोन के सामने आने के बाद से दुनिया के विभिन्न देश दक्षिण अफ्रीकी देशों से यात्रा पाबंदियां लगा रहे हैं ताकि नए स्वरूप के प्रसार पर रोक लगाई जा सके. विमानों का परिचालन बंद होने के बावजूद इस तरह के साक्ष्य हैं कि यह स्वरूप फैलता जा रहा है. भारत में ओमिक्रोन ने एक बार फिर चिंता बढ़ा दी है. जिसके चलते नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर 31 जनवरी 2022 तक रोक लगा दी है.

DGCA ने एक बयान में कहा कि पहले के आदेश में आंशिक बदलाव करते हुए भारत से आने-जाने वाली इंटरनेशनल कमर्शियल पैसेंजर उड़ानों के निलंबन को 31 जनवरी तक बढ़ाने का फैसला किया गया है. आगामी आदेश तक यही निर्देश मान्य होगा. वहीं आपको बता दें कि यह प्रतिबंध इंटरनेशन ऑल-कार्गो ऑपरेशन और रेगुलेटर की तरफ से स्पेशल अप्रूव उड़ानों पर लागू नहीं होंगे.

पिछले साल मार्च महीने से नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद कर दी गई थी. लॉकडाउन संबंधी प्रतिबंध में धीरे-धीरे ढील देने के बाद जैसे-जैसे कोरोना के मामले कम होते गए और टीकाकरण में रफ्तार आई, अन्य देशों के साथ ‘एयर बबल’ व्यवस्था के साथ भारत फ्लाइट का संचालन कर रहा था. लेकिन कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के बढ़ते टेंशन के बीच अब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से रोक दिया गया है.

पीएम मोदी ने नवंबर में ही कोरोना के नए म्यूटेंट के मद्देनजर निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की समीक्षा का आदेश दिया था. कई देशों ने दक्षिणी अफ्रीकी देशों के लिए अस्थायी रूप से उड़ानें निलंबित कर दी हैं. आपको बता दें कि इजरायल सभी विदेशी यात्रियों के लिए अपनी सीमाएं बंद कर रहा है. यूके ने 30 नवंबर से शुरू होने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय आगमन के लिए आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य कर दिया है. इसके अलावा एयरपोर्ट पर भी बिना आरटीपीसीआर के जाने व आने की अनुमति नहीं होगी.

 292 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *