पंजाब सरकार में चेयरमैन बनवाने के लिए ठगे एक कराेड़ 63 लाख रुपये

आज कल बिना सोचे समझे लालच में आकर किसी पर भरोसा करना मुसीबत को दावत देना हो गया है। या फिर आप ठगी का शिकार हो सकते है। ऐसा ही मामला सेक्टर 8 के निवासी के साथ हुआ है।
क्या है मामला
पंजाब सरकार में चेयरमैन बनवाने के लिए फरीदाबाद के सेक्टर-8 निवासी एक व्यक्ति से 1 करोड़ 63 लाख रुपये की ठगी कर ली गई। यह ठगी पीडि़त के रिश्तेदार ने ही की है। पीडि़त व्यक्ति फरीदाबाद में पुरानी कारों की सेल पर्चेज का काम करता है। यह रकम कांग्रेस सरकार के एक बडे़ नेता और हाईकमान को देने के नाम पर ली गई। जब रुपये देने के बाद वह चेयरमैन नहीं बन सका तो उसे ठगी का अहसास हुआ। इस मामले की शिकायत पुलिस को दी गई। पुलिस ने महिला सहित 3 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
सेक्टर-7 थाने में दर्ज मामले के अनुसार सेक्टर-8 निवासी मुनीष गर्ग ने दी शिकायत में बताया कि वह मूलरूप से अमन बाग झील रोड़ पटियाला पंजाब का रहने वाला है। वह पिछले कुछ समय से फरीदाबाद में ही रहकर पुरानी कारों की सेल पर्चेज का काम करता है। जबकि उसके ताऊ का लड़का कमल गुप्ता सिरसा में रहता है। सन 2017 में उसके ताऊ का लड़का कमल गुप्ता उसे एक शादी समारोह में मिल गया। इस समारोह में कमल गुप्ता ने फरीदाबाद के सेक्टर-17 में रहने वाले अपने साले सुभाष सोढ़ी से मिलवाया। इस दौरान कमल गुप्ता ने बताया कि सुभाष सोढ़ी के कांग्रेस के एक बडे़ नेता से बहुत अच्छे संबंध हैं। सुभाष सोढ़ी तुम्हें पंजाब की कांग्रेस सरकार में चेयरमैन बनवा सकते हैं, मगर इसके लिए पैसे देने होंगे। जिस पर मुनीष गर्ग ने उनसे कहा कि वह सोचकर बताएंगे। आरोप है कि फिर एक दिन कमल गुप्ता व उनकी पत्नी किरन गुप्ता व साला सुभाष सोढी़ सेक्टर-8 मुनीष गर्ग के घर पर आ गए और उनसे चेयरमैन बनने के बारे में पूछा। मुनीष गर्ग ने उनसे पैसों के बारे में पूछा तो आरोपितों ने बताया कि एक करोड़ रुपये देने होंगे। मुनीष गर्ग का कहना है कि वह उनकी बातों के जाल में आ गए और परिवार के लोगों से बात कर तीनों को एक करोड़ रुपये नकद दे दिए। करीब 8-10 लाख रुपये के करीब इन लोगों के कहने पर ऐक्सिस बैंक ब्रांच पटियाला एकाउंट में जमा करा दिए। एक करोड़ रुपये देने के बाद मुनीष गर्ग ने कुछ दिन बाद पूछा तो आरोपितों ने और रकम की मांग करते हुए कहा कि 63 लाख रुपये और देने होंगे। ये रुपये कांग्रेस हाईकमान को देने हैं। जिस पर मुनीष गर्ग ने दोस्त व रिश्तेदारों से लेकर 63 लाख रुपये इनको किश्तों में नकद दे दिये। सन 2019 में उन्हें लगा कि उनके साथ कुछ गलत हुआ है, तो उन्होंने तीनों से पैसे मागने शुरू किए। जिस पर आरोपितों ने तरह तरह के बहाने बनाने शुरू कर दिए। जब उन्होंने फिर से पैसे मांगे तो उन्होंने उन्हें जान से मारने की धमकी दी। पीडि़त का कहना है कि उसके पास तीनों से बात करने की सारी रिकार्डिंग भी है। पीडि़त ने इस मामले की शिकायत पुलिस को दी।
सेक्टर-7 थाना प्रभारी दिनेश कुमार ने बताया कि इस मामले में केस दर्ज करने के बाद जांच शुरू की गई है। जाचं के बाद ही मामला स्पष्ट हो सकेगा।

 202 total views,  1 views today

18 thoughts on “पंजाब सरकार में चेयरमैन बनवाने के लिए ठगे एक कराेड़ 63 लाख रुपये”

  1. Excelplent post. I was checking continuously this log and I am impressed!
    Extremely useful information. I care for such information a lot.

    I was looking for this certain information for a very long
    time.Thank yyou and good luck.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *