अंधाधुंध गोलियां बरसा रहे होमगार्ड को पुलिस ने नक्सली समझकर मार दी गोली

बिहार के मुंगेर जिले से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिले के बारियारपुर थाना क्षेत्र में मानसिक अवसाद से ग्रसित एक होमगार्ड जवान अंधाधुंध गोलीबारी करने लगे। जवान के द्वारा की जा रही गोलीबारी को नक्सली हमला समझकर पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की जिसमें गोली लगने से उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मोहम्मद जाहिद नाम के यह जवान बीते कुछ समय से अजीब व्यवहार कर रहे थे। वहीं, दूसरी तरफ मोहम्मद जाहिद के परिजनों ने पुलिस पर उनकी हत्या का आरोप लगाया है।

‘हमें बताया गया कि संदिग्ध नक्सली हमला हुआ है’

इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक मानवेंद्र सिंह ढिल्लो ने मंगलवार को बताया कि यह घटना बरियारपुर थाना क्षेत्र में एक चौकी पर हुई। उन्होंने कहा कि चौकी पर सोमवार मध्यरात्रि के बाद अंधाधुंध गोलियों की आवाज सुनी गई। उन्होंने कहा, ‘हमें संबंधित थाने द्वारा बताया गया कि एक संदिग्ध नक्सली हमला हुआ है और अंधेरे में गोलियां चलाई जा रही हैं। हम अतिरिक्त बल के साथ घने जंगलों से घिरे घटनास्थल पर पहुंचे। हमारी ओर से जवाबी गोलीबारी की गई। इसी बीच हमें पता चला कि यह होमगार्ड जवान मोहम्मद जाहिद (52) था जो गोली चला रहा था।’

पत्नी और पुत्र ने जताई हत्या की आशंका
ढिल्लो ने कहा, ‘जो लोग उसे अच्छी तरह से जानते थे, उन्होंने बताया कि वह कुछ समय से मानसिक तनाव में था और अजीब व्यवहार कर रहा था। ज़ाहिद की ओर से गोलीबारी बंद होने पर उनका खून से लथपथ शव बिना छत वाले शौचालय में मिला जहां से वह हवा में गोलीबारी कर रहे थे।’ उन्होंने कहा कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाया गया और आगे की जांच जारी है। इधर, जाहिद की पत्नी गुड़िया और पुत्र मुहम्मद रजा ने उनकी हत्या की आशंका जाहिर की है। इस बारे में मुंगेर के पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मृतक के स्वजनों के आरोपों की भी जांच की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *