सोशल मीडिया पर दोस्ती, फिर लिव इन और ब्रेकअप के बाद पुलिस थाने में निकाह

आजकल सोशल साइट पर फ्रेंडशिप करना आम बात है। लेकिन कहीं कहीं ये दोस्ती प्यार में भी बदल जाती है। ऐसा ही एक मामला कानपुर से सामने आया है जिसमें कानपुर निवासी युवती की गुलावठी क्षेत्र के युवक से दोस्ती हो गई। धीरे धीरे दोस्ती प्यार में बदल गई।

बातों बातों में युवक उसे कानपुर से भगाकर दिल्ली ले गया, जहां दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रहने लगे। युवती के गर्भवती होने पर युवक ने उसे गर्भपात कराकर छोड़ दिया। एसएसपी ने शिकायत मिलने पर युवक-युवती को महिला थाना बुलाया। यहां दोनों पक्षों की सहमति से उनका निकाह भी करा दिया गया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक करीब पांच साल पहले कानपुर के थाना सिकंदरा की एक युवती की दोस्ती गुलावठी के युवक से हुई थी। दोनों में बातचीत होने लगी और ये बातचीत प्यार में बदल गई। पीड़िता के अनुसार युवक उसे कानपुर से भगाकर दिल्ली ले गया। वह अपने घर से दो लाख रुपये की नगदी और काफी जेवरात लेकर गई थी। दिल्ली में एक कमरे में दोनों पति-पत्नी की तरह रहने लगे। आरोप है कि युवक ने उसके रुपये और जेवरात ले लिए। बाद में युवती के गर्भवती होने पर उसे मारपीट कर जबरन गर्भपात की दवा खिला दी गई। इससे युवती का गर्भपात हो गया। इसके बाद युवक उसे छोड़कर भाग निकला।

26 मई को युवती किसी तरह दिल्ली से युवक के घर गुलावठी पहुंच गई। जहां परिवार के लोगों ने उसके साथ मारपीट की और घर में घुसने नहीं दिया। इसके बाद युवती ने ने थाना गुलावठी पहुंचकर शिकायत की। वहां से कोई कार्रवाई न होने पर उसने एसएसपी से मिलकर अपनी पीड़ा सुनाई। एसएसपी ने मामला महिला थाना पुलिस को सौंप दिया।

एसएसपी ने शिकायत मिलने पर युवक-युवती को महिला थाना बुलाया। एसएसपी के आदेश पर मामले की जांच में युवती के आरोपी युवक पर लगाए गए आरोप सही पाए गए।यहां दोनों पक्षों की सहमति से उनका निकाह भी करा दिया गया। पुलिसकर्मियों ने नवदंपति को आशीर्वाद देकर विदा किया। इस मामले में राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के मेरठ प्रांत संयोजक कदीम आलम एडवोकेट ने पीड़िता का साथ देते हुए निकाह की पहल कराई।

 278 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *