महंगाई ने तोड़ा पिछले 15 महीने का रिकॉर्ड, 40% तक बड़े रोजमर्रा के सामान के रेट

रोजमर्रा के जरूरी सामानों और किराना आइटम के दामों में 40 फीसद तक की बढ़त हो गई है। इस महंगाई ने जहां एक ओर घर का बजट बिगाड़ दिया है वहीं हर घर का औसतन खर्च 5 परसेंट तक बढ़ गया है। यह आंकड़ा इस साल अप्रैल-जून और पिछले साल के इसी अवधि के बीच है। यानी कि पिछली तिमाही से इस तिमाही तक घर के सामान पर खर्च और किराना के दामों पर अब 5 परसेंट से ज्यादा महंगाई बढ़ गई है।

यह बात टाटा ग्रुप की रिटेल डिजिटाइजेशन स्टार्टअप कंपनी स्नैपबिज की एक रिपोर्ट में सामने आई है जिसमें बताया गया है कि एफएमसीजी के दामों में महंगाई ने पिछले 15 महीने का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। आटा, चीनी, दाल,मसालों और दुकानों पर खुदरा में मिलने वाले सामान के दाम तेजी से बढ़े हैं। हालांकि पैकेज्ड सामानों के दाम में कोई अंतर नहीं आया है। ये रिपोर्ट 20 लाख शॉपर बास्केट के दामों के आधार पर तैयार की गई है।

हर तरह के बाजार में चावल की रेट में 8-10 परसेंट की बढ़त हुई है। गेहूं के दाम में बढ़ोतरी होने से लोकल ब्रांड के आटा पर 8-15 फीसद की बढ़ोतरी देखी जा रही है। आशीर्वाद और पिल्सबरी जैसे ब्रांड्स ने हालांकि एमआरपी को पहले की तरह ही रखा है लेकिन ट्रेड और प्रमोशन स्कीम को रोक दिया गया है। सबसे ज्यादा तेजी खाद्य तेलों के दाम में देखी जा रही है और यह 40-50 परसेंट तक है।

नमक, कॉफी, साबुन की टिकिया, बिस्कुट के दाम स्थिर हैं, लेकिन स्कीम और डिस्काउंट को वापस ले लिया गया है। तेल के दाम बढ़ने से स्नैक्स के आइटम पर 8-10 परसेंट की बढ़ोतरी देखी जा रही है। डिटरजेंट पाउडर और लिक्विड के दाम में 5-7 परसेंट का उछाल आया है। चायपति के दाम पर 15-20 परसेंट की बढ़ोतरी हुई है। सिर्फ हैंड सैनिटाइजर के दाम ही 20-30 परसेंट तक घटे हैं क्योंकि सरकार ने टैक्स माफ कर दिया है।

लॉकडाउन का कीमतों पर असर
महंगाई की एक वजह कोरोना लॉकडाउन बताई जा रही है। लॉकडाउन के चलते लोगों को घरों में बंद रहना पड़ा जिससे उनकी जरूरतें बिल्कुल बदल गईं। घर में बंद रहने और हाउसहोल्ड ग्रोसरी आदि के खर्च बढ़ने से घर का बजट 5 परसेंट तक बढ़ गया। लॉकडाउन के दौरान लोगों की आय घटी जिसके चलते लोगों ने सस्ते सामान की मांग बढ़ा दी।

 235 total views,  1 views today

One thought on “महंगाई ने तोड़ा पिछले 15 महीने का रिकॉर्ड, 40% तक बड़े रोजमर्रा के सामान के रेट”

  1. Hello there, just was alert to your weblog through Google, and found that it is really informative. I am going to watch out for brussels. I will appreciate when you proceed this in future. Many other folks shall be benefited out of your writing. Cheers!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *