डेल्टा वेरिएंट से बहुत ज्यादा खतरनाक है ओमीक्रॉन: WHO

Spread the love

डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी दी है कि दक्षिण अफ्रीका में पाया गया ओमिक्रॉन वेरिएंट दुनिया के लिए बड़ा खतरा बन सकता है. इसके तेजी से पैर पसारने का खतरा पूरे विश्व में मंडरा रहा है और जिसके चलते भारत जैसे देशों में बड़ा संकट पैदा हो सकता है. ज्यादातर देशों के ट्रैवल बैन लागू करने के बावजूद ओमिक्रोन 13 देशों में पहुंच चुका है. उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी इसे लेकर चेतावनी देते हुए कहा है कि इसका रिस्क बहुत हाई है और कुछ इलाकों में यह बेहद खतरनाक साबित हो सकता है.

डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी दी है कि नया वेरिएंट दुनिया के लिए बड़ा खतरा बन सकता है. कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रोन ब्रिटेन, आस्ट्रेलिया, जर्मनी, इटली, बेल्जियम, इजरायल, हांगकांग, , नीदरलैंड, डेनमार्क, बेल्जियम, चेक रिपब्लिक, पुर्तगाल और कनाडा तक पहुंच गया है.

ओमीक्रॉन के तेजी से फैलने की संभावना ज्यादा

संगठन (WHO) ने इसको लेकर कहा कि दुनियाभर में इसके और फैलने की आशंका अधिक है. अगर इस वेरिएंट के चलते कोरोना संक्रमण तेज हुआ, तो इसके नतीजे खतरनाक होंगे.डब्ल्यूएचओ ने यह भी कहा कि अभी तक इस वेरिएंट से एक भी मौत की पुष्टि नहीं हुई है. अभी तक यह भी साफ नहीं हुआ है कि ये वेरिएंट कितना संक्रामक और घातक है.

संयुक्त राष्ट्र की संस्था ने अपने 194 सदस्य देशों को दी सलाह में कहा कि वे वैक्सीनेशन के अभियान को तेज रखें. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि ओमिक्रॉन के बहुत ज्यादा म्यूटेंट्स हैं. इनमें से कुछ ऐसे हैं, जो बड़ा विस्फोट कर सकते हैं. हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि ओमिक्रॉन के वैक्सीन से मिली इम्युनिटी को भी मात देने की आशंका को लेकर जांच करनी होगी.

हर दिन मिल सकते हैं 10,000 तक नए केस

इस बीच महामारी विज्ञानियों का अनुमान है कि इस सप्ताह के अंत तक द.अफ्रीका में ओमिक्रॉन वेरिएंट के चलते हर दिन 10,000 तक नए केस मिल सकते हैं. दक्षिण अफ्रीका की आबादी को देखते हुए यह बड़ा आंकड़ा है.

ओमिक्रॉन की वजह से फिर पाबंदियों के दिन लौट आए हैं, कोई देश अफ्रीकी देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगा रहा है, तो कोई अपनी सीमाओं को सील कर रहा है. हालांकि, दक्षिण अफ्रीका कई देशों द्वारा बैन किए जाने से नाराज है. अब डब्ल्यूएचओ ने भी दक्षिण अफ्रीका का साथ दिया है और अफ्रीकी देशों को बैन करने वाले देशों की कड़ी आलोचना कर उन्हें फटकार लगाई है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया भर के देशों से नए ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर चिंताओं के कारण दक्षिणी अफ्रीकी देशों पर उड़ान प्रतिबंध नहीं लगाने को कहा है.

 420 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *