सस्‍ता सोना खरीदने का मौका, जानिए क्या है हर ग्राम के लिए कीमत

Spread the love

अगर आपका इरादा भी सोना खरीदने का है तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है. सोमवार, 22 अगस्‍त से आप सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड योजना में निवेश कर पाएंगे. यह स्‍कीम 26 अगस्‍त तक निवेश के लिए उपलब्‍ध रहेगी.

जानकारी देते हुए आपको बता दें भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि 2022-23 की दूसरी सीरीज के तहत स्वर्ण बॉन्ड योजना खरीद के लिए 22 अगस्त से 26 अगस्त के दौरान उपलब्ध होगी। इसके लिए निर्गम मूल्य 5,197 रुपये प्रति ग्राम रखा गया है। सोने की फिजिकल डिमांड को कम करने के इरादे से सबसे पहले गोल्ड बॉन्ड योजना नवंबर, 2015 में लाई गई थी।

बयान के अनुसार ऑनलाइन या डिजिटल माध्यम से स्वर्ण बांड के लिए आवेदन और भुगतान करने वाले निवेशकों के लिए निर्गम मूल्य 50 रुपये प्रति ग्राम कम होगा। इस तरह के निवेशकों के लिए स्वर्ण बांड का निर्गम मूल्य 5,147 रुपये प्रति ग्राम है।
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (SGB) योजना में निवेशक 22 अगस्त से फिर निवेश कर सकेंगे।

गौरतलब है कि केंद्रीय बैंक दरअसल भारत सरकार की तरफ से बॉन्ड जारी करता है। ये निवासी व्यक्तियों, अविभाजित हिंदू परिवार (एचयूएफ), न्यासों, विश्वविद्यालयों और धर्मार्थ संस्थाओं को ही बेचे जा सकते है। अभिदान की अधिकतम सीमा व्यक्तियों के लिए चार किलोग्राम, एचयूएफ के लिए चार किलोग्राम और न्यासों तथा समान संस्थाओं के लिए 20 किलोग्राम प्रति वित्त वर्ष है। सोने की भौतिक मांग को कम करने के इरादे से सबसे पहले गोल्ड बांड योजना नवंबर, 2015 में लाई गई थी।

कौन कर सकता है निवेश?

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की शुरुआत नवंबर 2015 में हुई थी. आरबीआई (RBI) सरकार की तरफ से यह बॉन्ड जारी करता है. ये बॉन्‍ड निवासी व्‍यक्ति, अविभाजित हिंदू परिवार (HUF),ट्रस्‍ट, विश्वविद्यालय और धर्मार्थ संस्‍थाएं खरीद सकती है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में एक वित्त वर्ष में एक व्यक्ति अधिकतम 4 किग्रा गोल्ड के बॉन्ड खरीद सकता है. न्यूनतम निवेश एक ग्राम का होना जरूरी है. वहीं, ट्रस्‍ट या उसके जैसी संस्‍थाएं 20 किग्रा तक के बॉन्‍ड खरीद सकती हैं.

आठ साल है मैच्‍योरिटी पीरियड

सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड स्‍कीम की परिपक्‍वता अवधि आठ साल है. अगर निवेशक पहले पैसे निकालना चाहते है तो वह ऐसा निवेश करने के पांच साल बाद ही कर सकता है. इनवेस्टर गोल्ड बॉन्ड का पेमेंट कैश, डिमांड ड्राफ्ट, चेक या डिजिटल माध्यम से कर सकते हैं. ध्‍यान देने वाली बात यह है कि कैश पेमेंट केवल 20,000 रुपये तक ही किया जा सकता है.

कितना मिलता है ब्‍याज?

गोल्ड बॉन्ड स्कीम में निवेश करने पर इनवेस्टर को सालाना 2.5 फीसदी के फिक्स्ड रेट से इंटरेस्ट मिलेगा. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड्स का इस्तेमाल लोन लेने के लिए बतौर कोलैटरल भी किया जा सकता है.

 127 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *