फरीदाबाद में प्रदूषण का स्तर खतरे के निशान के पार

Spread the love

फरीदाबाद । दिवाली के नजदीक आते ही दिल्ली एनसीआर की आबो-हवा में प्रदूषण का स्तर इस कदर बढ़ जाता है कि खुली हवा में सांस लेना दुभर हो जाता है. कुछ ऐसी ही स्थिति औधोगिक नगरी फरीदाबाद में बनी हुई है जहां प्रदूषण का स्तर खतरें के निशान को पार कर रहा है. प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से जारी रिपोर्ट में फरीदाबाद का एयर क्वालिटी इंडेक्स 223 और बल्लभगढ़ का 283 दर्ज किया गया.

जैसे-2 सर्दी का मौसम नजदीक आ रहा है, वैसे-2 फरीदाबाद का AQI भी ख़तरे के निशान को पार करता जा रहा है. वायुमंडल में धूलकणों की संख्या में भारी मात्रा में इजाफा हो रहा है जिसके चलते लोगों को सांस लेने में तो परेशानी हो ही रही है, साथ ही पर्यावरण प्रदुषण भी बढ़ रहा है.

वातावरण में धूलकणों की अधिकता पेड़-पौधों पर साफ नजर आ रही है. गौरतलब है कि सर्दी के मौसम में फरीदाबाद का प्रदुषण स्तर 500 तक पहुंच जाता है लेकिन इस बार सर्दियों से पहले ही तेजी से बढ़ रहा प्रदुषण स्तर हर किसी को चिंतित कर रहा है. फरीदाबाद नगर निगम और प्रदुषण बोर्ड प्रदुषण को कम करने के बड़े-बड़े दावे करता है लेकिन जिस तरह से शहर की आबो-हवा प्रदुषित हों रही है उससे इनकी कार्यक्षमता पर सवाल खड़े हो रहे हैं. फरीदाबाद शहर के लोगों का कहना है कि अगर इसी तरह प्रदुषण का स्तर बढ़ता रहा तो आने वाले दिनों में खुली हवा में सांस लेना बीमारियों को न्योता देना होगा. खासकर जिन लोगों को श्वास संबंधी दिक्कतें हैं उन लोगों के लिए तो और परेशानी खड़ी हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *