बजट सत्र का दूसरा चरण आज से शुरू, बेरोजगारी-महंगाई के मुद्दों पर सरकार को घेरेगा विपक्ष

Spread the love

संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण सोमवार से लोकसभा और राज्यसभा यानी दोनों सदनों में शुरू होगा, जिसमें विपक्ष सरकार को बढ़ती बेरोजगारी, कर्मचारी भविष्य निधि पर ब्याज दर में कटौती और युद्धग्रस्त यूक्रेन में फंसे भारतीयों की निकासी समेत कई मामलों पर सरकार को घेरने की कोशिश कर सकता है. बजटीय प्रस्तावों के लिए संसद की मंजूरी लेना और केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के लिए बजट पेश करना सरकार के एजेंडा में शीर्ष पर होंगे.

30 दिनों की छुट्टी के बाद बजट सत्र का दूसरा चरण करीब एक घंटे देरी से शुरू हो सकता है. सत्र का पहला चरण 11 फरवरी को खत्म हुआ था. संसदीय स्थायी समितियों (DRSCs) द्वारा विभिन्न मंत्रालयों और विभागों की अनुदान मांगों की जांच के बाद बजट सत्र का दूसरा चरण शुरू हो रहा है. सभापति एम. वेंकैया नायडू सोमवार को राज्यसभा में इस अवकाश के दौरान आठ संसदीय स्थायी समितियों के कामकाज का लेखा-जोखा देंगे.

जम्मू-कश्मीर के लिए बजट पेश करेंगी वित्त मंत्री

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जम्मू-कश्मीर के लिए बजट पेश करेंगी और सदन में इस पर दोपहर के भोजन के बाद की कार्यवाही के दौरान चर्चा की जा सकती है. सरकार ने संविधान (अनुसूचित जनजाति) आदेश (संशोधन) विधेयक को भी लोकसभा में विचार किये जाने और पारित करने के लिए सूचीबद्ध किया है. बजट सत्र के पहले चरण में 29 जनवरी से 11 फरवरी तक दो अलग-अलग पालियों में लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही संचालित की गई थी.

शून्यकाल का समय बढ़ा

जानकारी के मुताबिक राज्यसभा को सत्र के दूसरे चरण में अब सरकार को विधायी कार्यों को करने और सार्वजनिक महत्व के मुद्दों को उठाने के लिए 64 घंटे 30 मिनट का समय मिलेगा. सदन में गैर-सरकारी सदस्यों के काम के लिए 4 दिन का समय होगा. इस बार भी प्रश्नकाल सिर्फ एक घंटे का ही रखा गया है. वहीं शून्यकाल का समय एक घंटे किया गया है. पहले चरण में शून्यकाल सिर्फ आधा घंटे का था.

 194 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *