बढ़ सकती हैं आजम खां की मुश्किलें

पूर्व मंत्री और सांसद आजम खां की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। एसआईटी ने जल निगम भर्ती घोटाले के मामले में उन्हें आरोपी मानते हुए सीतापुर जिला कारागार में वारंट बी दाखिल किया है। जेल अधीक्षक डीसी मिश्रा ने इसकी पुष्टि की है। सपा सरकार में जल मंत्री रहे आजम खां के समय जल निगम में भर्ती हुई थींं। इसमें घोटाले को लेकर शिकायतें मिलने पर शासन ने एसआईटी को इसकी जांच सौंपी थी। सूत्रों का कहना है कि एसआईटी ने इसमें आजम को दोषी मानते हुए मुलजिम बनाया है। गौरतलब है कि पूर्व मंत्री व सांसद आजम पत्नी तजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ पिछले कई महीने से सीतापुर जेल में बंद हैं।

मालूम हो कि सपा के शासनकाल में 2016 के अंत में हुई जल निगम में 1300 पदों पर वैकेंसी निकली थी। इसमें 122 सहायक अभियंता, 853 अवर अभियंता, 335 नैतिक लिपिक और 32 आशुलिपिक की भर्ती हुई थी। जल निगम विभाग के ही कुछ अधिकारियों ने इस संबंध में धांधली की शिकायत की थी जिसके बाद जांच शुरू हुई। सरकार इस मामले में 122 सहायक अभियंताओं को पहले ही बर्खास्त कर चुकी है। बाद में यह जांच सरकार ने एसआईटी को सौंप दी थी। एसआईटी ने इस मामले में आजम खां समेत डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों से पूछताछ की थी जिसमें पूर्व नगर विकास सचिव एसपी सिंह भी शामिल थे। एसपी सिंह ने हाल ही में भाजपा का दामन थामा है।

 

One thought on “बढ़ सकती हैं आजम खां की मुश्किलें”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *